रहस्य : एक ऐसा मकान, जहां दिन में पांच बार लगती है आग, देखें VIDEO

रिपोर्ट : शिवा शर्मा

लखनऊ। सूबे की राजधानी में एक परिवार डरा सहमा है। परिवार अपना घर खाली कर बाहर ही दिन और रात बिताने को मजबूर है। परिवार पर यह डर न तो किसी कर्जे तले दबे होने और न ही किसी दबंग से आशियाना छिनने की वजह से मंडरा रहा है। इस डर के आगे बुलाई गई पुलिस भी हाथ खड़े कर चुकी है।

घर खाली

शहर के पॉश इलाके में गिने जाने वाले इंदिरा नगर स्थित पानीगांव इलाके में इस मकान में एक अजीबो गरीब किस्से ने न सिर्फ घर के लोगों की बल्कि आस पास के लोगों की नींद उड़ा दी है। इस मकान में एक हलचल के बाद ना सिर्फ पूरा परिवार सहित पूरा इलाका हैरान है। अब तो इसकी ‘आग’ पूरे शहर में फैलती जा रही है।

दरअसल, सालों पुराने एक पुश्तैनी मकान राम सिंह और उसके 2 सगे भाइयों का है। एक साथ 3 भाइयों का पूरा परिवार कई सालों से इसी मकान में सुकून से रह रहा था। लेकिन मंगलवार की दोपहर से ही मकान के कई हिस्सों में आग लगने की घटनाए सामने आयी।

यह भी पढ़ें : इस दिन भूलकर भी न तोड़ें तुलसी के पत्ते, दूर हो जाएगी घर से खुशहाली

पहली बार आग की घटना महज़ एक इत्तेफाक ही लगी लेकिन दिन में 5 से 6 बार आग लगना लोगों में मन में सवाल खड़ा करने लगा कि कैसे बिना किसी वजह से आग क्यों लग रही है।

घर में मौजूद बच्चे और महिलाएं डर के साये में आ गए बच्चो के हाथ-पैर कांपने लगे और महिलाओं के ज़हन में की किसी बुरी अदृश्य शक्ति का घर में वास तो नहीं है?

ऐसी में इस बात की तस्दीक करने के लिए लाइव टुडे की टीम ने उस घर का ज़ायज़ा लिया और आग की इस अनहोनी पर पड़ताल भी शुरू की। घर का बाहरी हिस्सा तो ज़्यादा कुछ बयां नहीं कर रहा था लेकिन जहां जहां हमारा कैमरा पहुंचा वहां वहां जले हुए कुछ अवशेष भी दिखाई दिए।

यह भी पढ़ें : आपकी सेहत को कभी मुरझाने नहीं देगा ये सूखा हुआ पत्ता

घर के कई हिस्सों में जले हुए कपडे तो कहीं जले हुए कुछ सामान दिखाई दिए, कहीं किसी बोरी में आग लगी थी तो किसी रजिस्टर के ऊपर चढ़ी पोलिथिन में आग दिख रही थी। घर के नीचे हिस्से से लेकर ऊपर के कई हिस्सों में पड़ताल की गयी तो लगभग 14 से 15 जगह आग लगने की बात सामने आयी।

आग लगने की घटना मंगलवार से ही शुरू हुई और गुरुवार की रात तक चलती रही। इस घटना से डरे सहमे राम सिंह के बेटे ने मदद की गुहार 100 नंबर पर मांगी। मौके पर पहुंची पुलिस घर के लोगों को इस घटना पर बाबा से दिखा देने की सलाह देकर चलते बनी।

घर में मौजूद राम सिंह के साथ उसके 2 भाइयो का भी परिवार भी रहता है और घर के सदस्यों की संख्या पुरुष, महिला और बच्चों को मिलाकर 13 लोगो की है। राम सिंह पेशे से एक चालाक हैं।

इस आग के रहस्य के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्हें भी इस रहस्य के बारे में कुछ भी पता नहीं उनका कहना है की इस घटना के बाद से पूरा परिवार डरा सहमा है।

राम सिंह के साथ साथ उसकी पत्नी अनिता और 3 बच्चे हैं। साथ ही परिवार के और दो सदस्य भी हैं। एक राम सिंह के बड़े भाई का है रमेश और छोटे भाई राम लखन का है।

राम सिंह की पत्नी का कहना है की इस घटना से किसका क्या सम्बन्ध ये तो वो नहीं जानती लेकिन आग की इस अनहोनी से बच्चे अब हमेशा डरे सहमे हैं।

राम सिंह के बड़े भाई रमेश से भी हमने बात की तो उन्होंने कहा की परिवार में कभी ऐसा नहीं हुआ और ना ऐसा कभी उन्होंने सुना है। उनका कहना है कि वो अब डर के साये में जी रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि सब कुछ पहले जैसा हो जाए।

रहस्य्मय आग के इस घटना से घर के सारे सदस्य घर के बाहर रह रहे है चाय , नास्ता और पानी भी घर के सारे सदस्यों को घर के बाहर ही करना पड़ रहा है। आग से निजात पाने के लिए बड़े बुज़ुर्गो के कहे जाने वाले कई नुक्सों के साथ सदस्यों ने कोशिश की है।

जली हुई मिर्चियां इस बात का सन्देश है कि घर के लोग किसी बुरी अदृश्य शक्ति को भगाने की कोशिश कर रहे थे। परिवार का हर सदस्य मकान के बाहर रह रहा है और आसपास की कई महिला व पुरुष घर के बाहर परिवार के साथ वक्त बिता उनको हिम्मत देने के लिए मौजूद है।

loading...