मोदी की रैली में ‘दीदी’ ने गाड़े झंडे, पीएम ने अपने ही अंदाज़ में कह दी बड़ी बात

मिदनापुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम मिदनापुर जिले के मिदनापुर कस्बे में भाजपा की रैली स्थल के आसपास तृणमूल कांग्रेस के झंडे, बैनर व होर्डिग लगाए जाने को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मखौल उड़ाया।

मोदी

उन्होंने कहा कि ममता ने ये चीजें राज्य में उनका ‘स्वागत’ करने के लिए लगवाई थीं। तृणमूल कांग्रेस के सैकड़ों होर्डिग व बैनर 21 जुलाई को होने वाली पार्टी की शहीद दिवस रैली से पहले लगाए गए थे, जिन पर छपी तस्वीरों में पार्टी प्रमुख ममता हाथ जोड़े हुए दिख रही हैं।

मोदी ने किसानों की रैली में कहा, “मैं तृणमूल कांग्रेस का आभारी हूं, क्योंकि उन्होंने मेरी रैली के लिए अपनी पार्टी के ढेर सारे झंडों से समूचे इलाके को पाट दिया है। मैं ममता दीदी (बनर्जी) का भी आभारी हूं, क्योंकि उन्होंने अपने बहुत से होर्डिग पर छपी तस्वीरों में प्रधानमंत्री का पारंपरिक तौर पर स्वागत करने के लिए हाथ जोड़े दिख रही हैं। मैं इस भाव के लिए तहे दिल से आभार प्रकट करता हूं।”

यह रैली मुख्य रूप से केंद्र सरकार द्वारा 14 खरीफ फसलों के लिए 2018-19 के बाजार सत्र के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने के फैसले को लेकर आयोजित की गई थी।

उन्होंने कहा, “हमने किसानों के कल्याण के लिए इस तरह का प्रमुख कदम उठाया, जिससे तृणमूल कांग्रेस को बहुत से पार्टी झंडे व तस्वीरें इस रैली में मेरे स्वागत के लिए लगानी पड़ीं।”

उन्होंने कहा, “यह महज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत नहीं, बल्कि किसान भाइयों व बहनों की जीत है।

यह भी पढ़ें:- मोहसिन रज़ा ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर दिया ऐसा बयान जिसे सुनकर वसीम रिज़वी भी भरेंगे हामी

तृणमूल ने भाजपा नेताओं के पश्चिम बंगाल के दौरे वाले रास्ते पर बड़ी संख्या में पार्टी के बैनर व झंडे, पोस्टर लगाए हैं, जाहिर तौर पर यह अपनी राजनीतिक ताकत दिखाने व भाजपा की प्रचार सामग्री का मुकाबला करने के लिए है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी राज्य के अपने दौरे के दौरान बीते महीने तृणमूल के कार्यो की निंदा कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें:- लोकसभा चुनाव से पहले बसपा की हुंकार, नए जोश के साथ जनता के बीच इस मकसद से पहुंचेंगे कार्यकर्ता

शाह ने पुरुलिया में एक रैली में कहा, “यहां आने के दौरान मैंने देखा ने तृणमूल ने बहुत से बैनर हिंदी में लगवाए हैं जिसमें कि उन्हें समझ सकूं। उन्हें ज्यादा कष्ट उठाने की जरूरत नहीं है। इसे मैं अपनी पार्टी नेताओं से आसानी से समझ सकता हूं।”

देखें वीडियो:-

loading...