6 माह के बाद शिशु को दें ये नमकीनी चीज, मजबूत होगा पाचन तंत्र

ओट्स खाना शिशु और बड़ों दोनों के लिए काफी सेहतमंद होता है। ओट्स में फाइबर, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी और बी-6, प्रोटीन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, फॉस्फोरस, सेलेनियम आदि पोषक तत्व होते हैं। ओट्स एक अच्छे नाश्ते के रूप में माना जाता है। ओट्स खाने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है साथ ही हर पर एक्टिव होने का अहसास होता है। बच्चे को बार बार भूख लगती है औट्स खाने से बार बार भूख लगने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। आइये जानते हैं ओट्स खाने से शिशु को क्या फायदे होते हैं।

ओट्स

शिशु को ओट्स कब दें

6 महीने तक बच्चे  का पाचन तंत्र विकसित नहीं होता है इसलिए बच्चे को 6 महीने के बाद दूध के साथ ओट्स भी दें। ओट्स में जो पोषक तत्व मौजूद होते हैं वह ग्लूटन-फ्री होते हैं इसलिए इनका सेवन करने से शिशु को ग्लूटन एलर्जी की समस्या नहीं होती है। बच्चे को सभी पोषण तत्व मिलते रहें इसके लिए बच्चे को ओट्स खिलाना काफी फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़े: आज ही छोड़ दें इन पदार्थों का सेवन,वरना दिखेंगे उम्र से बड़े

कब्ज

ओट्स खाने में काफी लाइट होता है। जिसे खाने में बच्चों को कोई दिक्कत नहीं होती है। साथ ही ओट्स में फाइबर के भी भरपूर गुण होते हैं। ओट्स को रोज खाने से शिशु को कब्ज की भी कोई दिक्कत नहीं होती है।

पाचन तंत्र

शिशु का पाचन तंत्र पूरी तरह विकसित नहीं होता है। इस समय में बच्चों को कुछ लाइट ही खाने में देना चाहिए ताकि बच्चे के पाचन तंत्र पर कोई बुरा प्रभाव न पड़े । ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर भी होता है जो कि शिशु के पाचन तंत्र के लिए लाभकारी होता है।

इम्यून सिस्टम

ओट्स में बीटा-ग्लूकॉन मौजूद होता है। जो बच्चों के इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से बच्चे को रोगों से लड़ने में ताकत मिलती है।

 

 

loading...