सैयद सलाउद्दीन ने ली भारत में हुए आतंकी हमलों की जिम्मेदारी, कहा -“भारत में करवाए आतंकी हमले”

नई दिल्ली: आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के सरगना सैयद सलाउद्दीन ने भारत में हुए आतंकी हमलों की जिम्मेदारी ली है. सलाउद्दीन ने एक पाकिस्तानी टीवी न्यजू चैनल को दिए इंटरव्यू में यह कबूल किया और कहा है कि भारत में हुए आतंकी हमलों के पीछे हिजबुल मुजाहिद्दीन का हाथ है.

पाकिस्तानी न्यूज चैनल जियो टीवी को दिया इंटरव्यू

पाकिस्तानी न्यूज चैनल जियो टीवी को दिए इंटरव्यू में सलाउद्दीन ने कहा कि अब तक हमारा ध्यान भारतीय फोर्स पर था. हमने जितनी भी आतंकी घटनाओं को अंजाम दिया है या जिसकी तैयारी चल रही है उनमें से कई वारदातों में हम शामिल रहे हैं. ग्लोबल टेरेरिस्ट ने कहा कि मेरा घर कश्मीर में है और बुरहान वानी की हत्या के बाद से ही कश्मीर घाटी में हिंसा तेज हुई है.

अंतर्राष्ट्रीय बाजारों से खरीदते हैं हथियार

आंतकी सरगना ने कहा कि भारत में हमारे कई समर्थक है. अंतर्राष्ट्रीय बाजारों से हथियार खरीदने की बात करते हुए सलाउद्दीन ने कहा कि हम दुनिया भर से हथियार खरीदते हैं और अगर हमें ठीक दाम मिले तो हम किसी भी जगह इन हथियारों की सप्लाई कर सकते हैं. भारत में आतंकी घटना का जिक्र करते हुए उसने कहा कि 9/11 के बाद से आतंक को देखने का वैश्विक परिदृश्य बदल गया है.

अमेरिका ने घोषित किया है ग्लोबल टेररिस्ट

बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश यात्रा से ठीक पहले सैयद सलाउद्दीन को अमेरिका द्वारा ग्लोबल टेरेरिस्ट घोषित किया गया था. इस दौरान सैयद सलाउद्दीन ने सफाई देते हुए कहा था कि हम आतंकवादी नहीं है. हमारा संघर्ष कश्मीर की आजादी है और कश्मीर की आजादी तक हमारा यह संघर्ष जारी रहेगा.

पठानकोठ एयरबेस हमले में अहम भूमिका

सैयद सलाउद्दीन भारत में हुई कई बड़ी आतंकी हमलों का मास्टर माइंड रह चुका है. इतना ही नहीं बीते साल जनवरी में पठानकोठ एयरबेस पर हुआ आतकी हमले में भी उसकी अहम भूमिका थी. एयरबेस पर हुए आतंकी हमले को यूनाइटेड जिहाद काउंसिल नामक आतंकवादी संगठन ने अंजाम दिया था.

एनआईए की लिस्ट में मोस्ट वांटेड

बता दें कि सैयद सलाउद्दीन एक कश्मीरी है जो पाकिस्तान से मिल रही मदद के आधार पर भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने का काम करता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में जारी हिंसा के पीछे सैयद सलाउद्दीन की अहम भूमिका है. भारतीय खूफिया एजेंसी यानी एएनआई ने की लिस्ट में उसे पहले ही मोस्ट वांटेड घोषित जा चुका है.

loading...