स्वास्थ्य महानिदेशक का ऐलान, पहाड़ो पर डॉक्टरों की कमी होगी पूरी

रिपोर्ट- अंकित साह

हल्द्वानी। उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों में जहां चिकित्सकीय व्यवस्था ढर्रे पर नहीं लौट पा रही है।  तो वहीं  पर्वतीय क्षेत्रों में ग्रामीण मरीजों को डॉक्टरों की कमी के चलते भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जहां इस बात को  उत्तराखंड के स्वास्थ्य महानिदेशक टी. सी पंत भी  कबूल करते दिख रहे हैं।

महानिदेशक

टी. सी पंत का कहना है कि विभिन्न  मेडिकल कॉलेज से उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग का अनुबंध हुआ है।  जिसके तहत इस साल राज्य को 200 डॉक्टर मिल जाएंगे। जिन्हें पर्वतीय क्षेत्रों के विभिन्न अस्पतालों व जिला मुख्यालयों के अस्पतालों में तैनाती दी जाएगी।

बता दें कि कुमाऊं के प्रवेश द्वार कहे जाने वाले हल्द्वानी के बेस हॉस्पिटल में जहां हार्ट केयर सेंटर  डॉक्टरों के नहीं होने से कई सालों से  बंद पड़ा हुआ है तो वहीं सेंटर में रखी गई लाखों की मशीनें जंग खा रही हैं।

स्वास्थ्य महानिदेशक का कहना है कि राज्य में स्वास्थ्य विभाग प्रत्येक जिले में हार्ट केयर सेंटर खोलने जा रहा  है जहां पर पीपीपी मोड से या अन्य तरीकों से  डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी। उनका कहना है कि यदि मेडिकल कॉलेजों के अनुबंधित डॉक्टरों में से हार्ट स्पेलिस्ट मिलेंगे तो उन्हें तैनाती दी जाएगी।

यह भी पढ़े: 20 फिट नाले में गिरी महिला को पुलिस ने निकाला बाहर, अस्पताल में चल रहा इलाज

गौरतलब है कि उत्तराखंड के पर्वती जिलों मरीजों को डॉक्टरों के नहीं होने से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वही उनका गुस्सा सरकार के प्रति भी  दिख रहा है ।

loading...