शिक्षिका के साथ गैंगरेप, शक के दायरे में भाजपा नेता

रिपोर्ट- संदीप श्रीवास्तव

आजमगढ़ जिले के रानी की सराय थाना क्षेत्र में  एक दलित शिक्षिका को दिनदहाड़े भाजपा के झंडे लगे वाहन में अगवा कर गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने के बाद वीडियो क्लिप  बनाने का सनसनीखेज मामला सामने आया। पीड़ित दलित शिक्षिका ने अज्ञात लोगों के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया है वहीं पुलिस मामले में दो दिन बाद भी किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

गैंगरेप

पीड़ित दलित शिक्षिका का आरोप है कि वह शाम  को कोचिंग से घर वापस लौट रही थी तभी आजमगढ़- वाराणसी मार्ग पर भाजपा का झंडा लगे एक स्कार्पियों वाहन सवार लोगों ने उसे अगवा कर लिया और उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के साथ उसकी वीडियों क्लीप भी बनायी और पुलिस में जाने पर वीडियों क्लिप सोशल मीडिया में वायरल करने की धमकी  भी दी।

किसी तरह से पीड़िता अपने घर पहुंची और आप बीती बतायी तो परिजनों ने रानी की सराय थाने में मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गयी है।

‘पूजा आरती’ और ‘नमाज’ में उलझा ‘प्रेम का प्रतीक’, 400 साल पहले होती थी ताजमहल में नमाज?

वहीं जिस निजी विद्यालय में पीड़ित शिक्षिका पढ़ाती थी उस विद्यालय के प्रधानाचार्य सुलह समझौते के लिए परिजनों पर दबाव बना रहें है। पीड़िता के परिजनों की मानें तो इस मामले में प्रधानचार्य की भूमिका संदिग्ध लग रही है।

loading...