राहुल ने बार-बार गाड़ियों की कमी की तरफ ध्यान SPG को दिलाया था

नई दिल्ली : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की कार पर गुजरात में हुए हमले की घटना को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. इस बीच, यह खुलासा हुआ है कि राहुल के दफ्तर की ओर से अप्रैल 2016 में स्पेशल प्रॉटेक्शन ग्रुप (SPG) की बख्तरबंद टाटा सफारी गाड़ियों की शिकायत की गई थी. शिकायत में कहा गया था कि राहुल के काफिले में एसपीजी जिन गाड़ियों का इस्तेमाल करती है, उसमें यात्रियों के बैठने वाली जगह में वेंटिलेशन की कमी बताई गई है.

क्या-क्या कहा गया है शिकायत में?

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक राहुल गांधी के ऑफिस की तरफ से की गई शिकायत में गाड़ी की खिड़की का भी जिक्र है. कहा गया है कि गाड़ी की खिड़की कुछ सेंटीमीटर से ज्यादा नहीं खुल पाती. खिड़की के पूरा न खुलने की वजह से गाड़ी के अंदर बैठे शख्स को लोगों से मिलने में दिक्कत होती है. शिकायत में गाड़ी पर लगे कवच को फिजूल खर्च जैसा बताया गया है. इसके अलावा कहा गया है कि गाड़ी के सेंटर ऑफ ग्रैविटी में खामी है और सीट लेआउट भी गड़बड़ है.

राहुल ने बार-बार गाड़ियों की कमी की तरफ ध्यान दिलाया

एसपीजी प्रमुख विवेक श्रीवास्तव को लिखे एक लेटर में राहुल के स्टाफ ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने समय-समय पर एसपीजी के उच्च अधिकारियों को गाड़ियों की कमियों के बारे में बताया है. राहुल के ऑफिस की तरफ से कहा गया कि वह इन खामियों को दूर करने के लिए सकारात्मक बातचीत करने के लिए तैयार है. हालांकि मंगलवार को गृह मंत्रालय की एक अधिकारी ने गाड़ियों को लेकर राहुल की आपत्तियों को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि कई वीआईपी इन गाड़ियों का इस्तेमाल करते हैं.

loading...