राहुल गांधी ने फिर नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा, जाने 8 खास बातें

प्रिंसटन: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका के प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में छात्रों से रू-ब-रू होते हुए कहा कि बेरोजगारी भारत के विकास की राह में बड़ी बाधा है. बर्कले के बाद यहां भी राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा. राहुल गांधी ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य पर बहुत ज्यादा खर्च नहीं किया जा रहा है. रोजगार भारत में सबसे बड़ी चुनौती है. उन्होंने कहा कि अगर एक देश अपने युवाओं को रोजगार नहीं दे पाता है तो वह उसे कोई विजन भी नहीं दे सकता है.

  1. रोजाना करीब 30,000 युवा जॉब मार्केट में आते हैं, लेकिन आज सिर्फ 450 युवाओं को रोजगार मिल पा रहा है.
  2. पीएम मोदी का मेक इन इंडिया प्रोग्राम का फोकस सिर्फ बड़े बिजनेस पर है, जबकि उसे छोटे उद्योगों को बढ़ावा देना चाहिए.
  3. शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में कम बजट की ओर भी राहुल ने इशारा किया.
  4. भारत में ध्रुवीकरण की राजनीति एक बड़ी चुनौती है
  5. चीन की दुनिया की तरफ एक खास दूरदृष्टि है. यह बहुत स्पष्ट है.
  6. हमारा मुकाबला चीन से है और हम उस तरह से प्रदर्शन नहीं कर रहे
  7. पूरी दुनिया से तुलना करें तो बीते कुछ दशक में भारत जितनी बड़ी संख्या में लोगों को गरीबी से बाहर लाने में सफल रहा है उतना कोई भी देश नहीं रहा

इससे पहले अमेरिका की ही बर्कले यूनिवर्सिटी में राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा था. राहुल ने कहा था कि संसद को अंधेरे में रखकर मोदी सरकार नोटबंदी लाई थी, जिससे देश को नुकसान हुआ. राहुल गांधी ने वंशवाद को लेकर भी बयान दिया. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का मानना है कि परिवारवाद के चलते पार्टी में शीर्ष पद हासिल हो जाने के लिए उन्हें कोसा जाना बंद होना चाहिए, क्योंकि सारा मुल्क इसी तरह परिवारवाद से चल रहा है. अमेरिका में बर्कले स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में विद्यार्थियों से बातचीत करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “मुल्क का ज़्यादातर हिस्सा इसी तरह चलता है. भारत इसी तरह काम करता है…”

वैसे, राहुल गांधी पिछले कई साल से पार्टी का प्रमुख चेहरा बने हुए हैं और उन्हीं के नेतृत्व में पार्टी ने वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव लड़ा था, जिसमें कांग्रेस देशभर में सिर्फ 44 सीटों पर सिमटकर रह गई थी. ‘परिवार की पार्टी’ होने के आरोपों को खारिज करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “2012 में कांग्रेस पार्टी में अहंकार घर कर गया था और हमने जनता से संवाद करना बंद कर दिया था.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

28 − = 26