मिजोरम में स्वतंत्र, निष्पक्ष चुनाव की तैयारी पर रावत ने कह दी ये बात, आप भी जानें

आइजोल। मुख्य चुनाव आयुक्त ओमप्रकाश रावत ने बुधवार को कहा कि मिजोरम विधानसभा का चुनाव स्वतंत्र एवं निष्पक्ष तरीके से कराने की तैयारी संतोषजनक है। प्रदेश के दो दिन के दौरे पर पहुंचे मुख्य चुनाव आयुक्त ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा, “स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के मामले में मिजोरम का रिकॉर्ड हमेशा बेहतरीन रहा है। आगामी विधानसभा चुनाव में प्रदेश एक बार फिर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष मतदान का रिकॉर्ड कायम करेगा।”

मुख्य चुनाव आयुक्त ओमप्रकाश रावत

मिजोरम की 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए 28 नवंबर को मतदान होगा। मौजूदा विधानसभा में कांग्रेस के 34 विधायक हैं।

रावत के साथ चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा और अशोक लवासा भी मौजूद थे। उन्होंने चुनाव की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारियों की तारीफ की, जो जिला निर्वाचन अधिकारी भी हैं। उन्होंने कहा, “उनके कुशल प्रबंधन से सुगमतापूर्वक निष्पक्ष चुनाव कराने में मदद मिलेगी।”

यह भी पढ़ें- बिहार में हार्डकोर नक्सली गिरफ्तार, जानें कैसे मिली कामयाबी

उन्होंने कहा, “राजनीतिक दलों, सिविल सोसायटी और अधिकारियों द्वारा त्रिपुरा के छह राहत शिविरों में रह रहे रियांग जनजाति के मतदाताओं को लेकर जाहिर की गई चिंताओं, इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की विश्वसनीयता और उम्मीदवारों द्वारा चुनाव में किए जाने वाले खर्च की सीमा आदि विषयों पर गौर किया गया।”

रावत ने कहा कि इन चिंताओं को समुचित ढंग से दूर किया जाएगा। मिजोरम में 28 नवंबर को एक चरण में होने वाले मतदान के लिए अधिसूचना दो नवंबर को जारी की जाएगी और नामांकन की अंतिम तिथि नौ नवंबर है।

प्रदेश में 7,68,181 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के पात्र हैं। मिजोरम की मतदाता सूची में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों से ज्यादा है। कुल महिला मतदाताओं की संख्या 3,93,685 है, जबकि पुरुष 3,74,496 हैं।

loading...