महागठबंधन वाले बयान पर UPA ने मोदी को घेरा, कहा कमजोर पड़ रहा है सत्तारूढ़ पार्टी का जादू

नई दिल्ली| विपक्ष है कि प्रधानमंत्री मोदी  को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ता। प्रधानमंत्री के हाल ही में  महागठबंधन वाले बयान पर विपक्ष ने पलटवार किया है। विपक्ष का कहना है कि वो हमेशा से एकजुट हैं। कांग्रेस, वामपंथी दल और अन्य ने प्रधानमंत्री पर हमला करते हुए कहा कि वो घबराहट में ऐसा बोल रहे हैं और एनडीए बिखर रहा है न कि विपक्ष, जो एकजुट है।
UPA ने मोदी को घेरा
मोदी ने कुछ मीडिया संस्थानों को दिए साक्षात्कार में कहा है कि विपक्ष की एकता निजी अस्तित्व को बचाए रखने के लिए है ना कि विचारधारा के समर्थन के लिए है और निजी महत्वाकांक्षाओं के लिए है न कि जन आकांक्षाओं के लिए। उनके साक्षात्कार के बाद विपक्षी दलों के बयान आए हैं।

मोदी ने कहा कि महागठबंधन वंशवाद को लेकर है न कि विकास के लिए है और पूरी तरह सत्ता की राजनीति है न कि लोगों के जनादेश की राजनीति है और देखना ये है कि ये चुनाव से पहले टूटता है या उसके बाद।

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर के प्रसिद्ध मंदिर में मची भगदड़, लाखों की भीड़ में 25 श्रद्धालु घायल

बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी के सहयोगियों, शिवसेना और तेलुगू देशम पार्टी ने उनका साथ छोड़ दिया है और शिरोमणि अकाली दल भी अलग सुर अलाप रहा है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को मनाने के लिए राज्यसभा उपसभापति का पद जनता दल (यूनाईटेड) को दिया गया।

एनसीपी नेता तारिक अनवर ने कहा कि अगले लोकसभा चुनावों में बीजेपी को हराने के लिए विपक्ष की एकता और मजबूत होगी। सीपीआई के डी राजा ने कहा कि विपक्ष की एकता पूरी तरह कायम है और एनडीए में बिखराव हो रहा है। सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री घबरा गए हैं। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री का मूल नारा था ‘भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा’ जबकि अब ये बदल कर ये हो गया है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।’ इस बीच कांग्रेस के नेता पूरे समय बीजेपी पर आरोप मढ़ते नजर आये।

loading...