भिलाई स्टील प्लांट हादसा में बड़ी कार्यवाही पूर्व सीईओ हुये निलंबित

रायपुर/भिलाई। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में स्थित स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड की यूनिट भिलाई स्टील प्लांट (बीएसपी) हादसा मामले में पूर्व सीईओ को निलंबित कर दिया गया है। केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने प्लांट के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एम. रवि को निलंबित कर दिया है।

भिलाई स्टील प्लांट हादसा

इससे पहले बुधवार को भिलाई प्रवास के दौरान चौधरी बीरेंद्र सिंह ने रवि को सीईओ के पद से हटा दिया था। इसी दिन बीएसपी के दो अन्य अधिकारियों को निलंबित किया गया था। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा राशि के साथ परिवार के किसी एक सदस्य को प्लांट में नौकरी देने की घोषणा भी की गई है।

भिलाई से दिल्ली पहुंचने के बाद केंद्रीय इस्पात मंत्री ने एम. रवि को निलंबित कर दिया। इस मामले में केंद्रीय इस्पात मंत्री दिल्ली से सीधे नजर बनाए हुए हैं। मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद और कुछ लोगों पर कार्रवाई की जा सकती है।

एम. रवि के अलावा भिलाई स्टील प्लांट के एनर्जी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के डीजीएम नवीन कुमार व सेफ्टी डिपार्टमेंट के जीएम टी पंड्या राजा को पहले ही निलंबित किया जा चुका है।

एम.रवि की जगह अरुण कुमार भिलाई स्टील प्लांट के सीईओ का कार्यभार संभाल रहे हैं। भिलाई स्टील प्लांट के इतिहास में पहली बार किसी एमडी या सीईओ को निलंबित किया गया है।

भिलाई स्टील प्लांट में बीते मंगलवार की सुबह करीब 10.30 बजे नियमित मरम्मत कार्य के दौरान कोक ओवन बैटरी कॉम्प्लेक्स नंबर 11 के गैस पाइप लाइन में आग लग गई थी। इसके बाद पाइपलाइन में ब्लास्ट हो गया। इस घटना में नौ कर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि 14 अन्य को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इलाज के दौरान घायलों में से चार कर्मियों ने भी दम तोड़ दिया। इस घटना में अब तक 13 कर्मियों की मौत हो चुकी है। भिलाई स्टील प्लांट के 60 सालों के इतिहास का ये सबसे बड़ा हादसा है। इसको लेकर कर्मचारी ट्रेड यूनियन में भी आक्रोश देखा जा रहा है।

loading...