नवरात्र में इस तरह रखें फलाहार व्रत,माता को चढ़ाएं भोग में यह चीज

नवरात्र में माता के 9 रूपों की पूजा की जाती है। मां दुर्गा के भक्त उनकी पूजा करते हैं और व्रत रखते हैं। नवरात्र में भक्त सिर्फ फलाहार करते हैं। माता को गाय के सधी घी से भोग लगाया जाता है और भक्त इसे प्रसाद के रूप में ग्रहण करते हैं।

मां दुर्गा

माता को पिपरमिंट युक्त मीठा पान, अनार और गुड़ से बने पकवान भी अर्पण किए जाते हैं। अगर आप भी नवरात्र में व्रत रख रहे हैं तो आपको भी पता होना चाहिए कि इन दिनों में आप क्या क्या कहा सकते हैं और क्या नहीं।

यह भी पढ़ें-इतनी बार कर्नाटक गए तो फिर भी भद्रावती के लक्ष्मी-नरसिंह मंदिर के दर्शन नहीं किए तो कुछ नहीं किया

व्रत के दौरान कुट्टू के आटे की पूरी, कुट्टू के आटे के आलू वाले पकौड़े, समा के चावल, खीरे का रायता, साबूदाने की खीर, साबूदाने का पापड़, फलों का सलाद, आलू की सब्जी आदि शामिल कर सकते हैं। देवी मां को खीर का प्रसाद चढ़ाया जाता है। आप भी अपने फलाहार में चावल की खीर रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें-नवरात्रि के दूसरे दिन इस तरह करें मां ब्रह्मचारिणी की आराधना

ध्यान रखने वाली बात यह है कि व्रत के दौरान अनाज का सेवन पूर्णतयः वर्जित होता है। कोई भी खाद्य पदार्थ जिसमें अनाज मिला हो वो नहीं खाना चाहिए। यहां तक कि आम दिनों में प्रयोग होने वाला नमक भी इस दौरान नहीं खाया जाता। नवरात्र के दौरान सिर्फ फलाहारी नमक का प्रयोग ही करना चाहिए। अगर इन दिनों में नमक का इस्तेमाल पूरी तरह से बंद कर दिया जाए तो अति उत्तम है।

 

loading...