नए नोटों पर बड़ा खुलासा, जानकर हिल जाएंगे

हालही में आए एक नए नोट में पशुओं की चर्बी का उपयोग किया गया है, जिसके चलते बहुत से शाकाहारी लोगों तथा संगठनों ने इस करेंसी को लेने से मना कर दिया हैं।

 इसके चलते पब्लिक की कई संस्थाओं ने “हस्ताक्षर अभियान” भी चलाया हुआ है। आइए अब आपको बताते हैं इस पूरे मामले का सच…
हालही में जिस प्रकार से भारत में नई करेंसी के नोट आए हैं वैसे ही बैंक ऑफ इंग्लैंड ने भी इंग्लैंड में 5 पाउंड का एक नया नोट जारी किया है, जिस पर दूसरे विश्वयुद्ध के नायक विंस्टन चर्चिल की तस्वीर लगी है। इस नोट का लोग काफी विरोध कर रहें हैं, क्योंकि इन 5 पाउंड के नोट में ‘टेलो’ नामक वसा का उपयोग किया गया है, जो की पशुओं से निकाला जाता है।
हिंदू फोरम ऑफ ब्रिटेन (HFB) इंग्लैंड की एक बड़ी संस्था है जो की हिन्दू मंदिरों तथा हिन्दू संगठनों की संस्था है, इस संस्था का कहना है कि ” इस नए 5-पाउंड के नोट को वापस ले लिया जाए। इस संस्था द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि इन नोटों को जल्द से जल्द ‘कर्म-फ्री’ कर देना चाहिए।”, दूसरी और ब्रिटेन स्थित इस्कॉन मंदिर के निदेशक श्री गौरीदास का कहना है कि “हिन्दु समुदाय के लोग नोटों के रूप में लक्ष्मी को संभाल के रखते हैं।
ऐसे में यह वाकई विरोधाभासी होगा।”, इस संस्था ने 5 पाउंड के नोट को बंद करने के लिए हस्ताक्षर अभियान भी शुरू किया है, जिस पर अभी तक 126,000 लोगों के हस्ताक्षर किए गए हैं, 1500000 लोगों के हस्ताक्षर जमा होने पर यह अभियान इस याचिका को बैंक ऑफ़ इंग्लैंड को सौंपेगा। दूसरी ओर ब्रिटेन के रहने वाले ही शाकाहारी लोगों ने भी इस नोट को वापिस लेने की बात कही है और कई लोग इस नोट को लेने से भी मना कर रहें हैं, ब्रिटेन का “रेनबो कैफे” भी अब 5 पाउंड के इस नोट को नहीं ले रहा है। इस प्रकार से अब नोट में चर्बी होने के कारण लोग इस 5 पाउंड के नोट को नहीं स्वीकार कर रहें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 7 = 3