देश के 101 गांवों में असंक्रामक रोग रोकथाम के लिए कार्यक्रम कर रहा अंबुजा सीमेंट

अंबुजा सीमेंट फाउंडेशननई दिल्ली। अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन (एसीएफ) ने एक सशक्त स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली विकसित करने के लिए मजबूत हितधारकों की साझेदारी पर जोर देते हुए असंक्रामक रोगों के रोकथाम कार्यक्रम के विस्तार की घोषणा की। यह कार्यक्रम देश के 101 गांवों में करीब एक लाख लोगों को सेवाएं प्रदान कर रहा है। अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड की सीएसआर (कॉरपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी) शाखा एसीएफ ने एक बयान में कहा कि उसके द्वारा साझेदारी मॉडल के माध्यम से चलाया जा रहा रोकथाम कार्यक्रम देश के 101 गांवों में करीब एक लाख लोगों को सेवाएं प्रदान करता है।

देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की तैनाती के लिए महिंद्रा ने ऊबर से मिलाया हाथ

एसीएफ ने यहां समृद्ध ग्रामीण समुदायों के निर्माण के उद्देश्य से एक सहभागी संवाद ‘असंक्रामक रोगों पर बहुहितधारकों का परामर्श’ का आयोजन किया, जिसमें अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन की प्रमुख पर्ल तिवारी ने कहा, “जागरूकता की कमी के साथ-साथ जीवनशैली में परिवर्तन से पूरे देश के ग्रामीण इलाकों में असंक्रामक रोगों की महामारी में वृद्धि हुई है। जहां ग्रामीण महिलाएं कुपोषण से पीड़ित हैं, युवा तंबाकू और शराब के दुरुपयोग के शिकार हो रहे हैं। यह स्थिति गंभीर है और विभिन्न हितधारकों से एक सशक्त और स्थायी स्वास्थ्य देखभाल जागरूकता के एक ऐसे अभियान को विकसित करने और अपना सहयोग देने के लिए जरूरी हस्तक्षेप की मांग करता है।”

लिखा हो या रंग लगा हो, 500 और 2000 रूपये के सभी नोट मान्य: आरबीआई

उन्होंने कहा, “आज के समय में भारत में लगभग 60 प्रतिशत मौतों के लिए असंक्रामक रोग जिम्मेदार हैं। एनसीडी के निवारण के लिए कई स्तरों पर निरंतर और केंद्रित प्रयासों की आवश्यकता होती है जो सभी हितधारकों द्वारा उत्साहपूर्ण प्रयासों के द्वारा ही संभव हो सकता है। एसीएफ स्वस्थ समुदायों के निर्माण के प्रयासों को जारी रखेगा ताकि लोग और भी उपयोगी और लाभकारी जीवन जी सकें।”

loading...