डीएम ने शराब के ठेकों पर पहुंच कर की जांच, सही दाम पर बेचने के दिए निर्देश

रिपोर्ट- संजय आर्य

हरिद्वार। हरिद्वार में शराब के ठेकों पर ओवर रेट से बेची जा रही शराब की लगातार मिल रही शिकायत के बाद जिलाधिकारी दीपक रावत खुद स्थिति की जांच करने कई शराब के ठेकों पर पहुंचे और वहां पर मौजूद लोगों से शराब ओवर रेट के बारे में जानकारी ली।

डीएम ने की जांच

जिलाधिकारी दीपक रावत आम आदमी की तरह शराब के ठेके पर पहुंचे पहले तो किसी को मालूम ही नहीं हुआ कि जिलाधिकारी पहुंचे हैं लेकिन बाद में जब लोगों को पता चला कि जिलाधिकारी खुद वहां पर रियलिटी चेक करने पहुंचे हैं तो ठेके पर मौजूद विक्रेता और कैंटीन संचालक के हाथ पांव फूल गए जिलाधिकारी ने विभिन्न अनियमितताओं को देखते हुए कैंटीन संचालक और शराब ठेकेदार को जमकर फटकार भी लगाई।

इस मामले में जिलाधिकारी दीपक रावत का कहना है कि उन्हें लगातार शिकायत मिल रही थी कि हाईवे पर लोग सड़क पर बैठकर ही शराब का सेवन करते हैं और शराब विक्रेता द्वारा शराब ओवर रेट से बेची जाती है वही कैंटीन संचालक द्वारा शराब पीने वाले लोगों से ज्यादा पैसे वसूले जाते हैं सड़क पर शराब पीना गैरकानूनी है और खुले में शराब पीने से समाज पर भी बुरा असर पड़ता है।

यह भी पढ़े: कर्मचारियों ने अधिकारियों को नहीं बल्कि मां नयना देवी को सौंपा अपनी मांगों का ज्ञापन

कैंटीन का लाइसेंस होने के बावजूद धड़ल्ले से सड़क पर ही शराब का सेवन कराया जाता है इस अनियमितता को देखते हुए दो दुकानों के खिलाफ कार्रवाई की गई है जिला आबकारी अधिकारी को भी निर्देशित किया गया है कि अगर इस तरह की अनियमितता पाई जाती है तो वह स्वयं जाकर संबंधित दुकानों का चालान करें।

loading...