ग्राम प्रधान की दबंगई के आगे नस्मस्तक हैं ‘अधिकारी’, जानें क्या है वज़ह

रिपोर्ट- गुरनाम सिंह

सितारगंज। ग्राम प्रधान की दबंगई–  सितारगंज में एक ग्राम सभा ऐसी भी है, जहां पर ग्राम प्रधान की ही मनमानी चलती है। अधिकारियों को शिकायत लगाने के बावजूद भी नहीं होती कोई कार्रवाई मामला ग्राम सरकड़ा का है। जहां ग्राम प्रधान के द्वारा लगाया गया ग्राम सभा के लाखों रुपए को चुना ग्राम प्रधान की दबंगई के आगे मजबूर लाचार ग्रामीण काट रहे अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर, मजबूर ग्रामीणों के स्वजल द्वारा शौचालयों के निर्माण में भी हुई बड़ी धांधली, रोड नालियों का निर्माण बिना कराए ही हड़पे लाखों रुपए, ग्रामीणों की शिकायत लगाने के बावजूद भी अधिकारी चुप्पी साधे हुए है।

ग्राम प्रधान की ही मनमानी

सितारगंज के ग्राम सभा सरकड़ा का एक ताजा मामला सामने आया जहां पर ग्राम प्रधान की दबंगई इस कदर बढ़ गई है कि अधिकारी भी ग्राम सभा के मामलों में दखलंदाजी करना पसंद नहीं कर रहे हैं आपको बता दें कि ग्राम सभा में लाखों रुपए की अनियमितताएं निकल कर सामने आ रही हैं। जहां ग्रामीणों ने लिखित शिकायतें भी अधिकारियों को दी हैं। बावजूद उसके अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं।

कोई भी कार्यवाही ग्राम प्रधान पर नहीं की जा रही है। वहीं ग्रामीणों ने आरोप लगाए कि ग्राम प्रधान के द्वारा स्वजल योजना के अंतर्गत जो शौचालय का निर्माण कराया जाना था। उसमें शौचालय के निर्माण ग्रामीणों द्वारा स्वयं कराए गए हैं और ग्राम प्रधान के द्वारा स्वजल योजना के अंतर्गत आए हुए शौचालय का पेमेंट स्वयं प्राप्त कर लिया है।

वहीं कुछ ग्रामीणों ने आरोप लगाए की ₹3000 देने के बाद ग्राम प्रधान द्वारा ₹ 12000 का चेक दिया गया जब सूचना के अधिकार के अंतर्गत ब्लॉक से सूचना मांग कर देखा गया तो ₹12000 का चेक स्वजल योजनाओं के अंतर्गत शौचालय निर्माण के लिए राशि दी गई थी। 3000 ग्राम प्रधान से सूचना मांगी गई कि किस आधार पर लिए हैं तो ग्राम प्रधान द्वारा धमकाया गया कि जो करना है, वह कर लो।

यह भी पढ़ें: डर की हुई जीत, मिट्टी लेने गई दो लड़कियां तालाब में डूबी

वहीं अधिकारियों के चक्कर काटने के बाद अधिकारी जांच के लिए भी गांव में नहीं पहुंचे ग्राम प्रधान की दबंगई के आगे अधिकारी भी कहीं ना कहीं नतमस्तक होते दिखाई दे रहे हैं। वहीं आपको बता दें कि ग्राम सभा में कई नालियों का बिना निर्माण कराए भुगतान ग्राम प्रधान द्वारा ले लिया गया है लेकिन नालियों का निर्माण नहीं कराया गया कुछ रोडो का निर्माण भी बिना कराए ही पेमेंट निकाल लिया गया है लेकिन उनका निर्माण नहीं कराया गया है।

यह आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान के ऊपर शिकंजा कसने की मांग की ग्रामीणों ने बताया कि इसकी सूचना जिला अधिकारी के कार्यालय में भी दी गई और ब्लॉक कार्यालय में भी दी गई लेकिन दोनों ही कार्यालय से कोई भी अधिकारी आज तक गांव में नहीं पहुंचा है। ग्रामीणों ने कहा कि ग्राम प्रधान के द्वारा लाखों रुपए का गबन कर लिया गया है लेकिन अधिकारी इसके ऊपर बिल्कुल भी कोई जांच करना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं ।

अब देखने वाली बात यह है कि आखिर ग्राम प्रधान की दबंगई किस बल पर दिखाई दे रही है क्या अधिकारी ग्राम प्रधान के साथ मिलीभगत कर इस मामले में शामिल दिखाई दे रहे हैं या ग्राम प्रधान के ऊपर किसी राजनेता का हाथ है, जिस कारण उच्च अधिकारी भी ग्राम प्रधान के ऊपर कोई कार्यवाही करना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं और आमजन परेशान होकर सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने को मजबूर हो रहा है।

अब देखना यह है कि आखिर कब तक ग्रामीणों का को इंसाफ मिल पाएगा अथवा मजबूर ग्रामीण यूं ही सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने को मजबूर होते रहेंगे।

loading...