खाली पेट चाय पीने से हो सकती है यह गंभीर समस्या,वक्त रहते नहीं किया इलाज तो पड़ेगा भारी

आज के वक्त की लगातार भागदौड़ भरी जिंदगी में खान-पान पर नियंत्रण रखना काफी मुश्किल होता है. कामकाजी लोग अपने वक्त की बचत करने के लिए भूख लगने पर स्ट्रीट फूड और जंक फूड खा लेते हैं. ये सब चीजें आम तौर पर मैदा से बनी होती हैं, जो फौरी तौर पर तो भूख से राहत दे देती हैं, लेकिन इनकी पाचन प्रकिया काफी जटिल होती है. पाचन प्रक्रिया ठीक न होने के कारण बदहजमी की परेशानी होती है. अगर इंसान पहले से ही तनाव, थायरॉयड, धूम्रपान और मोटापे की परेशानी से जूझ रहे हैं तब बदहजमी हो जाने से ये और भी गंभीर समस्या बन जाती है.

बदहजमी की समस्या पर वक्त रहते ध्यान न देने से गैस, उल्टी, पेट दर्द, जलन और कुछ रिसर्च में यहां तक बताया गया है कि कैंसर की समस्या भी हो सकती है. इससे बचने के लिए लोग अक्सर डॉक्टर के पास जाकर लाखों रुपये खर्च कर देते हैं. लेकिन आम घरों की रसोई में मिलने वाले मसालों के इस्तेमाल से भी बदहजमी की परेशानी से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है. आज हम आपको ऐसे ही कुछ आसान तरीके बताते हैं जिनकी मदद से आप आसानी से इस समस्या से निजात पा सकते हैं.
अदरक का और नींबू के रस को गर्म पानी में मिलाकर पीने से बदहजमी की समस्या को दूर किया जा सकता है.
एक चम्मच कच्चे और अनफिल्टर्ड सेब के सीरके को एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीने से बदहजमी से राहत मिलती है.
अजवायन के पाउडर को काले नमक के साथ गर्म पानी में मिलाकर पीने से पाचन में मदद मिलता है, साथ ही ये लूज मोशन की समस्या को भी कंट्रोल करता है.
अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर इन पर नमक लगाकर चूसने से खाना आसानी से पच जाता है. साथ ही ये बदहजमी की समस्या को भी दूर करता है.
सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की याचिका पर कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला
धनिया पाचन एंजाइम्स के उत्पादन को बढ़ाता है. इसके लिए धनिया के बीजों को पीसकर मठ्ठे में मिलाकर पीने से शरीर की पाचन प्रकिया ठीक रहती है.
दिन में दो या तीन बार ग्रीन टी पीने से भी पाचन प्रकिया सुचारु रूप से चलती रहती है.
बदहजमी की परेशानी से फैरी राहत के लिए बेंकिग सोडे को पानी में मिलाकर पीने सेराहत मिलती है.
सुबह उठकर खाली पेट एक गिलास गर्म पानी पीने से बीते दिन का खाया हुआ खाना आसानी से पच जाता है.
सौंफ माउथ फ्रेसनर के साथ बदहजमी में भी फायदेमंद है. सौंफ के दानों को हलका भूनकर इनका पाउडर बना लें. इस पाउडर को गर्म पानी के साथ पीने से बदहजमी से छुटकारा पाया जा सकता है.
आईडीसी ने किया खुलासा, भारतीय वेयरेबल बाजार में शाओमी सबसे आगे
माना जाता है बदहजमी की परेशानी का एक मुख्य कारण नींद का पूरा नहीं हो पाना है. शरीर में पाचन की प्रकिया सोते वक्त होती है, लेकिन जो व्यक्ति ठीक से नींद नहीं लेते हैं उन्हें अपच की परेशानी से दो चार होना पड़ता है.
खाने खाने के तुंरत बाद कभी भी पानी नहीं पीएं. खाना खाने के बाद कम से कम आधा या एक घंटा के बाद पानी पीएं. अगर आप प्यास को कंट्रोल नहीं कर पा रहे हैं तो फलों का जूस, मठ्ठा या फिर गर्म पानी पी सकते हैं.
भोजन के बाद आधा घंटा जरूर टहले और टहलते वक्त शरीर को ढीला ना छोड़े शरीर को कस कर तेजी से वॉक करें.

The post खाली पेट चाय पीने से हो सकती है यह गंभीर समस्या,वक्त रहते नहीं किया इलाज तो पड़ेगा भारी appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...