केरल के पुलिस प्रमुख ने दिया आश्वासन, सबको है सबरीमाला जाने का अधिकार

निलाक्कल (केरल)| केरल के पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने बुधवार को कहा कि किसी को भी सबरीमाला जाने से रोका नहीं जाएगा। बेहरा ने कहा कि भगवान अयप्पा मंदिर के प्रमुख पुजारी ने घोषणा की है कि राजवंश व तांत्री के परिवार की महिलाएं प्रार्थना में भाग लेंगी।

बेहरा ने मीडिया से कहा, “सबरीमाला में व इसके चारों तरफ पुलिस की भारी तैनाती है।”  बेहरा ने कहा कि निलाक्कल व पंबा में 1000 से ज्यादा पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई है।

केरल के पुलिस प्रमुख ने दिया आश्वासन, सबको है सबरीमाला जाने का अधिकार

पुलिस प्रमुख ने कहा, “किसी को भी रोका नहीं जाएगा और किसी को कानून को हाथ में लेने की अनुमति नहीं होगी। सबरीमाला सुरक्षित है और कोई भी आकर पूजा कर सकता है।”

इससे पहले दिन में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनिल कांत ने कार्यकर्ता व तांत्री परिवार के सदस्य राहुल ईश्वर से मुलाकात की थी। राहुल ईश्वर प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे हैं। कांत ने ईश्वर से कहा कि उन्हें यह ध्यान रखना होगा कि कानून न तोड़ा जाए।

ईश्वर ने कहा, “हमने अधिकारी से कहा कि हम यहां कोई विवाद पैदा करने के लिए नहीं है। हम यहां बैठकर पूजा कर रहे हैं। शाही व तांत्री परिवारों की महिलाओं सहित वरिष्ठ सदस्य पूजा में भाग ले रहे हैं जो बहुत ही जल्दी निलाक्कल में शुरू होगी।”
यह भी पढ़ें: अगर जीवन में नहीं किया होगा यह पाप… तो दुर्गा मैया भर देंगी झोली
मंदिर के लिए बुधवार का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। मंदिर का दरवाजा शाम पांच बजे खुलेगा। इसे मासिक पूजा के लिए खोला जाएगा जिसकी समाप्ति 22 अक्टूबर को होगी। सर्वोच्च न्यायालय के 28 सितंबर के आदेश के बाद मंदिर का दरवाजा पहली बार 10 से 50 साल की महिलाओं के लिए खोला जा रहा है।

loading...