कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र नहीं : रविशंकर प्रसाद

भोपाल। चुनावी राज्य मध्यप्रदेश पहुंचे भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यहां मंगलवार को प्रधानमंत्री सहित अन्य मंत्रियों की तरह अपनी व सरकार की उपलब्धियां गिनाने से ज्यादा वक्त कांग्रेस को कोसने और उसका इतिहास खंगालने में लगाया।

रविशंकर प्रसाद

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के भीतर आंतरिक लोकतंत्र नहीं है। प्रसाद ने कहा कि गांधी परिवार से बाहर का कोई व्यक्ति कांग्रेस अध्यक्ष नहीं बन सकता, जब भी ऐसा हुआ तो उसे ‘भक्तों’ ने बर्दाश्त नहीं किया।

भाजपा के मीडिया सेंटर में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, “कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है। इस पार्टी में गांधी परिवार के बाहर का कोई व्यक्ति अध्यक्ष नहीं बन सकता। जब-जब भी इस परिवार से बाहर का कोई व्यक्ति अध्यक्ष बना है, तो इस परिवार के लोगों ने और पार्टी में उनके भक्तों ने उन्हें बर्दाश्त नहीं किया है।”

उन्होंने कहा कि दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री पी़ वी़ नरसिम्हा राव के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू ने एक पुस्तक लिखी है, जिसमें कांग्रेस में नेहरू-गांधी परिवार के हस्तक्षेप के बारे में विस्तार से लिखा गया है।

पुस्तक का हवाला देते हुए प्रसाद ने कहा कि 1977 में जब इंदिरा चुनाव हारीं, तब देवकांत बरुआ कांग्रेस के अध्यक्ष थे। वे इस परिवार के भक्त थे और कहते थे ‘इंडिया इज इंदिरा और इंदिरा इज इंडिया’। उनके बाद वामनदेव रेड्डी पार्टी के अध्यक्ष बने। लेकिन इंदिरा गांधी उन्हें पचा नहीं पाईं। उन्होंने मूल कांग्रेस से अलग होकर इंदिरा कांग्रेस बनाई।

राजस्थान के रण में 4288 नामांकन हुये दाखिल

देश के कानून मंत्री ने इतिहास पेश करते हुए कहा, “इंदिरा की हत्या के बाद उनके बेटे राजीव गांधी कांग्रेस अध्यक्ष रहे। राजीव की हत्या के बाद पी़ वी़ नरसिम्हा राव कांग्रेस अध्यक्ष बने और बाद में प्रधानमंत्री भी बने। लेकिन उनके पूरे कार्यकाल के दौरान सोनिया गांधी पर्दे के पीछे से उन्हें और कांग्रेस को चलाना चाहती थीं। उनके बाद सीताराम केसरी अध्यक्ष बने। उनके बाद 19 साल सोनिया गांधी अध्यक्ष रहीं और अब राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष हैं।”

प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस के विपरीत भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह लोकतांत्रिक पार्टी है और इसमें कोई भी योग्य कार्यकर्ता शिखर तक पहुंच सकता है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यकर्ता के रूप में ही पार्टी में शामिल हुए थे। वर्तमान अध्यक्ष अमित शाह बूथ समिति के अध्यक्ष से आगे बढ़े हैं। उनके अलावा गृहमंत्री राजनाथ सिह, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी पार्टी में अपना कॅरियर सामान्य कार्यकर्ता के रूप में ही शुरू किया था।

प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चुनाव में नोटबंदी और जीएसटी का मुद्दा उठा रहे हैं, लेकिन वे लोगों को भ्रमित करने का काम कर रहे हैं। वास्तव में मोदी सरकार के इन दोनों ही कदमों से देश की अर्थव्यवस्था को दीर्घकालीन लाभ हुए हैं। लाभ क्या-क्या, यह बताने में उन्होंने अपना कीमती वक्त जाया करना शायद उचित नहीं समझा।

प्रसाद ने मुख्यमंत्री शिवराजसिह चौहान की तारीफ करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में एक बीमारू प्रदेश अब ‘विकसित राज्य’ बन गया है।

loading...