उत्तर कोरिया की बढ़ती परमाणु ताकत पर लगाम कसने के लिए एक हुए अमेरिका और दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरियासियोल। दक्षिण कोरिया और अमेरिका के शीर्ष परमाणु प्रतिनिधियों ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम से उत्पन्न स्थिति पर शुक्रवार को यहां चर्चा की। दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्रालय के अनुसार, कोरियाई महाद्वीप में शांति और सुरक्षा मामलों के दक्षिण कोरियाई विशेष प्रतिनिधि ली दो-हून ने अमेरिकी परमाणु प्रतिनिधि जोसेफ यून से मुलाकात की। ली और यून कोरिया प्रायद्वीप को परमाणु हथियार मुक्त करने के लिए शुरू की गई छह देशों की वार्ता में अपने-अपने देशों का प्रतिनिधित्व करते हैं। यह वार्ता अभी निलंबित है।

इससे पहले दोनों कोरियाई देशों, चीन, अमेरिका, रूस और जापान के बीच वर्ष 2008 में बातचीत हुई थी।

पाकिस्तान तालिबान ने अपने नेता की मौत की पुष्टि की

द्विपक्षीय वार्ता के दौरान, राजनयिकों ने उत्तर कोरिया को परमाणु कार्यक्रम को त्यागने की बातचीत में शामिल होने के लिए तैयार करने के संबंध में चर्चा की।

दोनों राजनयिकों ने इस बात पर सहमति जताई की सियोल और वाशिंगटन को अमेरिका-दक्षिण कोरिया समन्वय के आधार पर बड़े देशों के साथ सहयोग करने की जरूरत है। दोनों देश शांतिपूर्ण तरीके से प्योंगयांग के परमाणु कार्यक्रम को समाप्त करने के लिए लगातार व करीबी संवाद तथा एक दूसरे के साथ सहयोग करने को लेकर सहमत हुए।

यमन में अमेरिका हवाई हमला, अल कायदा के 5 आतंकवादी मारे गए

इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दक्षिण कोरिया समेत पूर्वोत्तर एशिया की यात्रा के मद्देनजर यहां दक्षिण कोरिया, अमेरिका और जापान के बीच उप-मंत्रीमंडल स्तर की वार्ता हुई।