इस फैसले के बारे में परिवार को भी नहीं बताया धोनी ने

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी हमेशा चौकाने वाले निर्णय लेते रहे हैं। धोनी के बहनोई गौतम गुप्ता भी मानते हैं कि वह बचपन से ही इसी तरह का है।टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के पहले उसने घर में किसी को नहीं बताया था और एक बार फिर उसने घरवालों को कोई सूचना तक नहीं दी।

गौतम का कहना है कि वह उचित समय पर उचित निर्णय लेने में माहिर है। बचपन की एक घटना को याद करते हुए उन्होंने बताया कि स्कूल लीग चल रहा था और उसकी तबीयत खराब थी।

खेल शिक्षक तथा घर के सभी सदस्यों ने उसे घर पर आराम करने को कहा था। लेकिन मैच शुरू होने के एन पहले वह मैदान पर पहुंच गया और पैड पहनकर तैयार हो गया।

काफी समझाने पर जब वह नहीं माना तो उसे खेलने दिया गया। उस मैच में माही ने अर्धशतक लगया था। यहीं नहीं वह कई बार अपने पापा को भी अपने निर्णय से अचंभित कर देते हैं।

उसने अपनी शादी की खबर भी मुझे अचानक बताई जबकि हम साथ-साथ रहते घूमते हैं फिर भी उसने शुरू में इसकी भनक तक नहीं लगने दी।

 

loading...