आज का इतिहास: एक ऐसी स्वर कोकिला जिसकी आवाज की दीवानी है सारी दुनिया ‘लता मंगेशकर’

आज का इतिहास ‘लता मंगेशकर’– आज भारत रत्न से विभूषित ‘स्वर कोकिला’ लता मंगेशकर का 89वां जन्मदिन है, उम्र के आंकड़े भले ही कुछ कहे लेकिन इसमें किसी की शक नहीं कि आज भी लता की आवाज किसी नवयुवती से कम नहीं हैं। सुरों की देवी और मां सरस्वती की उपासक लता मंगेशकर के जन्मदिन पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उन्हें बधाई दी है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा है कि मैं लता दीदी के जन्मदिन पर उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं और उनकी लंबी उम्र और स्वस्थ जीवन की कामना करता हूं।

आज का इतिहास: एक ऐसी स्वर कोकिला जिसकी आवाज की दीवानी है सारी दुनिया  ‘लता मंगेशकर’

लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर, 1929 इंदौर में हुआ था भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका हैं, जिनका छ: दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा पड़ा है। हालाँकि लता जी ने लगभग तीस से ज्यादा भाषाओं में फ़िल्मी और गैर-फ़िल्मी गाने गाये हैं लेकिन उनकी पहचान भारतीय सिनेमा में एक पार्श्वगायक के रूप में रही है। अपनी बहन आशा भोंसले के साथ लता जी का फ़िल्मी गायन में सबसे बड़ा योगदान रहा है।

लता की जादुई आवाज़ के भारतीय उपमहाद्वीप के साथ-साथ पूरी दुनिया में दीवाने हैं। टाईम पत्रिका ने उन्हें भारतीय पार्श्वगायन की अपरिहार्य और एकछत्र साम्राज्ञी स्वीकार किया है।

बचपन

लता का जन्म मराठा परिवार में, मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में सबसे बड़ी बेटी के रूप में पंडित दीनानाथ मंगेशकर के मध्यवर्गीय परिवार में हुआ। उनके पिता रंगमंच के कलाकार और गायक थे। इनके परिवार से भाई हृदयनाथ मंगेशकर और बहनों उषा मंगेशकर, मीना मंगेशकर और आशा भोंसले सभी ने संगीत को ही अपनी आजीविका के लिये चुना।

हालाँकि लता का जन्म इंदौर में हुआ था लेकिन उनकी परवरिश महाराष्ट्र में हुई। जब लता सात साल की थीं तब वो महाराष्ट्र आईं। लता ने पाँच साल की उम्र से पिता के साथ एक रंगमंच कलाकार के रूप में अभिनय करना शुरु कर दिया था।

पार्श्व गायन में कदम

लता बचपन से ही गायक बनना चाहती थीं। बचपन में कुन्दन लाल सहगल की एक फ़िल्म चंडीदास देखकर उन्होने कहा था कि वो बड़ी होकर सहगल से शादी करेगी। पहली बार लता ने वसंग जोगलेकर द्वारा निर्देशित एक फ़िल्म कीर्ती हसाल के लिये गाया। उनके पिता नहीं चाहते थे कि लता फ़िल्मों के लिये गाये इसलिये इस गाने को फ़िल्म से निकाल दिया गया। लेकिन उसकी प्रतिभा से वसंत जोगलेकर काफी प्रभावित हुये। पिता की मृत्यु के बाद (जब लता सिर्फ़ तेरह साल की थीं), लता को पैसों की बहुत किल्लत झेलनी पड़ी और काफी संघर्ष करना पड़ा। उन्हें अभिनय बहुत पसंद नहीं था लेकिन पिता की असामयिक मृत्यु की वज़ह से पैसों के लिये उन्हें कुछ हिन्दी और मराठी फ़िल्मों में काम करना पड़ा। अभिनेत्री के रूप में उनकी पहली फ़िल्म पाहिली मंगलागौर (1942) रही, जिसमें उन्होंने स्नेहप्रभा प्रधान की छोटी बहन की भूमिका निभाई। बाद में उन्होंने कई फ़िल्मों में अभिनय किया जिनमें, माझे बाल, चिमुकला संसार (1943), गजभाऊ (1944), बड़ी माँ (1945), जीवन यात्रा (1946), माँद (1948), छत्रपति शिवाजी (1952) शामिल थी। बड़ी माँ, में लता ने नूरजहाँ के साथ अभिनय किया और उसके छोटी बहन की भूमिका निभाई आशा भोंसलेने। उन्होंने खुद की भूमिका के लिये गाने भी गाये और आशा के लिये पार्श्वगायन किया।

यह भी पढ़े: Ayodhya Case: जजों की सहमति से लिया गया बड़ा फैसला, अब बस इस तारीख का करें इन्तजार

1945में उस्ताद ग़ुलाम हैदर (जिन्होंने पहलेनूरजहाँ की खोज की थी) अपनी आनेवाली फ़िल्म के लिये लता को एक निर्माता के स्टूडियो ले गये जिसमे कामिनी कौशल मुख्य भूमिका निभा रही थी। वे चाहते थे कि लता उस फ़िल्म के लिये पार्श्वगायन करे। लेकिन गुलाम हैदर को निराशा हाथ लगी। 1947 में वसंत जोगलेकर ने अपनी फ़िल्म आपकी सेवा में में लता को गाने का मौका दिया। इस फ़िल्म के गानों से लता की खूब चर्चा हुई। इसके बाद लता ने मज़बूर फ़िल्म के गानों “अंग्रेजी छोरा चला गया” और “दिल मेरा तोड़ा हाय मुझे कहीं का न छोड़ा तेरे प्यार ने” जैसे गानों से अपनी स्थिती सुदृढ की। हालाँकि इसके बावज़ूद लता को उस खास हिट की अभी भी तलाश थी।

1949 में लता को ऐसा मौका फ़िल्म “महल” के “आयेगा आनेवाला” गीत से मिला। इस गीत को उस समय की सबसे खूबसूरत और चर्चित अभिनेत्री मधुबाला पर फ़िल्माया गया था। यह फ़िल्म अत्यंत सफल रही थी और लता तथा मधुबाला दोनों के लिये बहुत शुभ साबित हुई। इसके बाद लता ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

पुरस्कार

फिल्म फेयर पुरस्कार (1958, 1962, 1965, 1969, 1993 and 1994)
राष्ट्रीय पुरस्कार (1972, 1975 and 1990)
महाराष्ट्र सरकार पुरस्कार (1966 and 1967)
1969 – पद्म भूषण
1974 – दुनिया में सबसे अधिक गीत गाने का गिनीज़ बुक रिकॉर्ड
1989 – दादा साहब फाल्के पुरस्कार
1993 – फिल्म फेयर का लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार
1996 – स्क्रीन का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
1997 – राजीव गान्धी पुरस्कार
1999 – एन.टी.आर. पुरस्कार
1999 – पद्म विभूषण
1999 – ज़ी सिने का का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
2000 – आई. आई. ए. एफ. का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
2001 – स्टारडस्ट का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
2001 – भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान “भारत रत्न”
2001 – नूरजहाँ पुरस्कार
2001 – महाराष्ट्र भूषण
पिता दिनानाथ मंगेशकर शास्त्रीय गायक थे।
उन्होने अपना पहला गाना मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ (कितना हसोगे?) (1942) में गाया था।
लता मंगेशकर को सबसे बड़ा ब्रेक फिल्म महल से मिला। उनका गाया “आयेगा आने वाला” सुपर डुपर हिट था।
लता मंगेशकर अब तक 20 से अधिक भाषाओं में 30000 से अधिक गाने गा चुकी हैं।
लता मंगेशकर ने 1980 के बाद से फ़िल्मो में गाना कम कर दिया और स्टेज शो पर अधिक ध्यान देने लगी।
लता ही एकमात्र ऐसी जीवित व्यक्ति हैं जिनके नाम से पुरस्कार दिए जाते हैं।
लता मंगेशकर ने आनंद घन बैनर तले फ़िल्मो का निर्माण भी किया है और संगीत भी दिया है।
वे हमेशा नंगे पाँव गाना गाती हैं।

आज का इतिहास

28 सितम्बर की महत्वपूर्ण घटनाएँ 

  • अंतिम मुग़ल बादशाह बहादुर शाह द्वितीय ने 1837 में दिल्ली का शासन संभाला।
  • चीन के ह्वांग-हो नदी में 1887 में आयी बाढ़ से करीब 15 लाख लोग मरे।
  • इथोपिया ने 1923 में राष्ट्र संघ की सदस्यता छोड़ी।
  • अमेरिका ने 1928 में चीन की राष्ट्रवादी च्यांग काई-शेक की सरकार को मान्यता दी।
  • इंडोनेशिया 1950 में संयुक्त राष्ट्र का 60 वां सदस्य बना।
  • फ्रांस में 1958 में संविधान लागू हुआ।
  • एतोमिया के जल पोत के 1994 में तुर्क सागर में डूब जाने से 800 लोगों की मृत्यु।
  • अमेरिकी अंतरिक्ष शटल 1997 में अटलांटिक रूसी अंतरिक्ष केन्द्र ‘मीर’ से जुड़ा।
  • सिडनी ओलम्पिक में साल 2000 में 200 मीटर की दौड़ के स्वर्ण पदक का ख़िताब मोरियाना जोंस तथा केंटेरिस ने जीता।
  • अमेरिका व ब्रिटिश सेना एवं सहयोगियों ने 2001 में ‘ऑपरेशन एंड्योरिंग फ़्रीडम’ प्रारम्भ किया।
  • यान 2003 में रूस की धरती पर सुरक्षित उतरा।
  • विश्व बैंक ने 2004 में भारत को विश्व की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था कहा।
  • जापान के नव निर्वाचित एवं 90वें प्रधानमंत्री के रूप में शिंजो एबे ने 2006 में शपथ ली।
  • तालिबान ने 2006 में लादेन के जीवित होने की घोषणा की।
  • फ़्रांस की चिकित्सा टीम ने 2006 में लगभग शून्य गुरुत्वाकर्षण में एक व्यक्ति का सफल आपरेशन किया।
  • मेक्सिको के तटीय क्षेत्रों में 2007 में आये चक्रवर्ती तूफ़ान लोरेंजो ने भारी तबाही मचाई।
  • नेशनल एयरोनॉटिक्स स्पेस एडमिनिशस्ट्रशन (नासा) ने 2007 में विशेष यान डॉन का प्रक्षेपण किया।
  • स्टार खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा 2009 में पैन पैसिफिक ओपन के पहले राउंड में हार के बाद बाहर हुई।
  • मुख्यमंत्री मायावती ने 2011 में 72 जिलों वाले उत्तर प्रदेश में पंचशील नगर, प्रबुद्धनगर और संभल नामक तीन और जिले के निर्माण की घोषणा की।

28 सितंबर को जन्मे व्यक्ति – Born on 28 September

  • अंग्रेज़ प्राच्य विद्यापंडित और विधिशास्त्री तथा प्राचीन भारत संबंधी सांस्कृतिक अनुसंधानों के प्रारम्भकर्ता विलियम जोंस का 1746 जन्म।
  • आध्यात्मिक गुरु शिरडी साईं बाबा का 1836 में जन्म।
  • हिन्दी के साहित्यकार तथा सरस्वती पत्रिका के संपादक श्री नारायण चतुर्वेदी का 1885 में जन्म।
  • महान् स्वतंत्रता सेनानी भगतसिंह का 1907 में जन्म।
  • अभिनेता पी. जयराज का 1909 में जन्म।
  • भारतीय पार्श्वगायिका लता मंगेशकर का 1929 में जन्म।
  • भारत के 41वें मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मल लोढ़ा का 1949 में जन्म।
  • प्रसिद्ध भारतीय निशानेबाज़ अभिनव बिन्द्रा का 1982 में जन्म।
  • बालीवुड अभिनेता रणबीर कपूर का 1982 में जन्म।
28 सितंबर को हुए निधन – Died on 28 september
  • मुग़ल वंश का 18वाँ बादशाह अकबर द्वितीय का 1837 में निधन।
  • फ्रांस के प्रसिद्ध जैव वैज्ञानिक लुईस पाश्चर का 1895 में निधन।
  • प्रसिद्ध अमेरिकी खगोलशास्त्री एडविन हब्बल का 1953 में निधन।
  • हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार शिवप्रसाद सिंह का 2008 में निधन।
  • भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बृजेश मिश्र का 2012 में निधन।
  • हिन्दी के प्रसिद्ध कवि वीरेन डंगवाल का 2015 में निधन।
loading...