अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय ने 9 छात्रों के खिलाफ की कार्रवाई, वजह बना ये बड़ा कारण

अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने जम्मू-कश्मीर में मारे गए आतंकवादी मन्नान बशीर वानी के शोक में बैठक करने जा रहे नौ छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की है। वानी आतंकवादी संगठन में शामिल होने से पहले पीएचडी का छात्र था। उसे कुपवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों ने मार गिराया था।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय

एएमयू के अधिकारी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के छात्रों के खिलाफ उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

एएमयू मीडिया मामलों के प्रमुख प्रोफेसर एस किदवई ने आईएएनएस को बताया कि जांच समिति को 72 घंटे में अपनी रिपोर्ट जमा करने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें:- अस्पताल के मालिक से फ़िल्मी स्टाइल से मांगी रंगदारी, लेकिन इस चूक के कारण चढ़े पुलिस के हत्थे

किदवई ने कहा कि एएमयू में राष्ट्र-विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:- बदमाश को पकड़ने गई पुलिस पर दबंगों ने किया हमला, जानपर खेलकर सिपाही ने किया ये काम

उन्होंने कहा, “कुछ छात्रों ने वानी के समर्थन में अवैध तरीके से इकट्ठा होने की कोशिश की थी लेकिन उन्हें हटा दिया गया। बाद में, नौ छात्रों की पहचान की गई और उन्हें अपने कृत्य के लिए कारण बताओ नोटिस दिया गया है।”

देखें वीडियो:-

loading...